Entertainment

रवीना टंडन की बेटी और अजय देवगन के भतीजे के लॉन्च पर बोले अभिषेक कपूर- मैं नेपोटिज्म के बारे में नहीं सोचता…

‘केदारनाथ’, ‘रॉक ऑन’, ‘काई पो है’ जैसी बेहतरीन फिल्में बनाने वाले डायरेक्टर अभिषेक कपूर ने नेपोटिज्म के सवाल पर कुछ कहा है। उन्होंने कहा कि मैंने कई नए लड़के-लड़कियों को मौका दिया है, जिनमें से एक सुशांत सिंह राजपूत भी थे, जो फिल्म इंडस्ट्री से नहीं थे।

डायरेक्टर अभिषेक कपूर बॉलीवुड में अलग और शानदार फिल्में बनाने के लिए जाने जाते हैं। जहां उन्होंने सुशांत सिंह राजपूत के साथ ‘केदारनाथ’ बनाई, वहीं उन्होंने आयुष्मान खुराना के साथ ‘चंडीगढ़ करे आशिकी’, सुशांत के साथ ‘काई पो है’ जैसी फिल्में भी बनाईं। डायरेक्टर ने अपनी फिल्मों और कई अलग-अलग मुद्दों पर बात की। अभिषेक जल्द ही रवीना टंडन की बेटी और अजय देवगन के भतीजे को लॉन्च करने वाले हैं, जिसके बारे में उन्होंने बात भी की।

उनसे पूछा गया कि आप अपनी अगली फिल्म में दो स्टार किड्स राशा टंडन (रवीना टंडन की बेटी) और अमन देवगन (अजय देवगन के भतीजे) को लॉन्च करने का जोखिम भी उठा रहे हैं। क्या आपको नहीं लगता कि इससे भाई-भतीजावाद को बढ़ावा देने का आरोप लग सकता है? इस पर डायरेक्टर ने साफ कहा- मैं इन चीजों पर ज्यादा ध्यान नहीं देता।

उन्होंने आगे कहा, ‘मैंने फिल्म जगत के लोगों के बच्चों के साथ तो काम किया ही है, आउटसाइडर्स के साथ भी खूब काम किया है। मैंने कई नये लड़के-लड़कियों को मौका दिया है। सुशांत सिंह राजपूत फिल्म इंडस्ट्री का लड़का नहीं था, प्राची देसाई फिल्म इंडस्ट्री की लड़की नहीं थी, इसलिए मैंने ऐसे कई लोगों के साथ काम किया है।’

निर्देशक ने आगे कहा, ‘मेरा मानना ​​है कि मेरा मकसद किसी को लॉन्च करना नहीं है, मेरा मकसद एक कहानी बताना है। उस फिल्म को करने के बाद अगर उसमें से एक सितारा पैदा होता है तो यह ईश्वरीय उपहार है, लेकिन मेरा ध्यान उस पर नहीं है, मेरा ध्यान सिर्फ फिल्म बनाने पर है।

Back to top button